Sad Shayari- ग़म शायरी

ishq shayari in hindi -इश्क हिंदी शायरी

ishq shayari in hindi –Ishq Mai rab hai Ishq mai Khuda har ishq pak hai ishq mai hai Bhagwan
Love and ishq Hindi shayari , Ishq wali shayari

काफी तोला गया हुं तराजू मे सिर्फ थोडी रुवानिष है,
गले से लगा ले कोई दो पल ही सही बस इतनी गुजारिश हे ।
जिसे रखा हो दूर हमेशा, उस पर ही तो वफा ऐ आजमाईश हे
भले फकीर हू मे सही पर जानता हू सच्चे इश्क की इहमियत

❤❤❤

Ishq Mai rab hai Ishq mai Khuda har ishq pak hai ishq mai hai Bhagwan Love and ishq Hindi shayari , Ishq wali shayari
Ishq Hindi Shayari

फ़रिश्ते ही होंगे जिनका हुआ इश्क मुकम्मल, इंसानों को तो हमने सिर्फ बर्बाद होते देखा है…

“मैं भी हुआ करता था वकील इश्क वालों का कभी….
नज़रें उस से क्या मिलीं आज खुद कटघरे में हूँ….”

इश्क है वही जो हो एक तरफा;
इजहार है इश्क तो ख्वाईश बन जाती है;
है अगर इश्क तो आँखों में दिखाओ;
जुबां खोलने से ये नुमाइश बन जाती है।

मेरे इश्क़ से मिली है ,,
तेरे हुस्न को ये शौहरत ,
तेरा ज़िक्र ही कहाँ था
मेरी दीवानगी से पहले ,,

कुछ तो शराफत सीख ले, ऐ इश्क़ शराब से………..!!
बोतल पे लिखा तो होता है, मैं जानलेवा हूँ………….!!

बरसों से कायम है इश्क़ अपने उसूलों पर,
ये कल भी तकलीफ देता था ये आज भी तकलीफ देता है.

बंद कर दिए हैं हमने तो दरवाजे इश्क के
पर कमबख़्त तेरी यादें तो दरारों से ही चली आई..

ishq hindi shayari

इश्क की गहराईयों में.. खूबसूरत क्या है..!!
एक मैं हूँ, एक तुम हो और ज़रुरत क्या है..!!

खतम हो गई कहानी, बस कुछ अलफाज बाकी हैं;
एक अधूरे इश्क की एक मुकम्मल सी याद बाकी है।

इश्क़ ने हमे बेनाम कर दिया,
हर खुशी से हमे अंजान कर दिया,
हमने तो कभी नही चाहा की हमे
भी मोहब्बत हो,
लेकिन तुम्हारी एक नज़र ने
हमे नीलाम कर दिया…

इश्क में, मैं खुद को बेकसूर कहती थी पहले
भूल जाती हूँ कि इस दिल की भी तो शरारत थी कुछ…….

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close